Categories
अपराध उत्तर प्रेदेश महाराजगंज

भारत नेपाल सीमा पर 48 घंटे से रोके गए ट्रक, अंडरलोड और ओवरलोड में फंसा मामला

  • भारत में अंडरलोड नेपाल में ओवरलोड में फंसे भारतीय ट्रक नारायणघाट बर्दधाट और रूपनदेही में 48 घंटे से रोके गए भारतीय ट्रक विस्तार भारत नेपाल सीमा सोनौली से सटे रूपनदेही जिले के भंसार कार्यालय के बाहर बाइपास काठमांडू मार्ग पर रूपनदेही जिले की ट्रैफिक पुलिस ने भारतीय मालवाहक ट्रकों को ओवर लोड बता कर रोक दिया है, जबकि भारतीय ट्रांसपोर्टर और चालकों का कहना है कि ट्रक ओवरलोड नहीं हैं। इस पेच में करीब 100 से अधिक भारतीय ट्रकों को पुलिस ने पिछले 48 घंटे से रोक रखा है। उन्हें आगे जाने की अनुमति नहीं मिल रही है।पश्चिमांचल और पूरब यातायात व्यवसायी समिति और ट्रक यातायात समिति ने भैरहवा और काठमांडू तक ओवरलोड होकर आने वाली भारतीय ट्रकों के खिलाफ संयुक्त रूप से आंदोलन करने की चेतावनी दी है। उनका कहना है कि भैरहवा कस्टम से पास होकर नेपाल में जाने वाली लगभग 80 प्रतिशत ट्रकें ओवरलोड जा रही हैं, जिससे सड़कें बहुत जल्दी क्षतिग्रस्त हो जा रही हैं। व्यवसायियों की शिकायत पर पुलिस ने सभी गाड़ियों को रोक दिया है। ट्रक व्यवसायी रमेश कुमार, संदीप निगम, हरबंस सिंह ने बताया कि रूपनदेही जिले में जुर्माना काटने के बाद भी बर्दधाट और नारायण घाट में पुलिस ने गाड़ियां रोक दी है। लुम्बिनी ट्रक समिति के अध्यक्ष विष्णु प्रसाद खरेल ने बताया की नेपाल सरकार की यातायात के लिए ओवरलोड पर बनी नई नीति स्वागत योग्य है, लेकिन इसके लिए कस्टम से लेकर पुलिस सभी को सहयोग करने की जरूरत है। यातायात समिति के अध्यक्ष टीकाराम गौतम ने नेपाल कस्टम के अधिकारियों से मांग की की भारत से आने वाले सभी माल वाहक ट्रकों का वजन मिलाकर पास किया जाए। रूपनदेही ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज वीके शाही ने बताया कि नेपाल यातायात नियम के अनुसार वजन लेकर जाने वाली गाडियों को नहीं रोका जाएगा। तय मानक से वजन से ज्यादा होने पर जुर्माना काट कर जाने दिया जा रहा है। नारायण घाट दूसरे क्षेत्र में आता है। इसकी जानकारी नहीं है।
Categories
उत्तर प्रेदेश महाराजगंज

बोलेरो में सवार थे 15 छात्र, हादसे के चालक वाहन छोड़कर भाग निकला

महराजगंज। पनियरा थाना क्षेत्र कुआचांप छावनी टोला के पास बुधवार को रजौडा रोड पर स्थित मदनी मार्डन कान्वेंट स्कूल के बच्चों से भरी बोलेरो बिजली के पोल से टकरा गई। जिससे वाहन सवार 15 बच्चों में विजय लक्ष्मी, पूजा, वीरू समेत पांच घायल हो गए। अन्य बच्चों को मामूली चोट आई। हादसे के बाद गाड़ी चालक मौके पर लोगों को आता देख फरार हो गया। लोगों ने ही बच्चों को बाहर निकाला और सूचना परिजनों को दी। सूचना पाकर परिजन घायल बच्चों को पनियरा के निजी अस्पताल में ले गए। लोगों का आरोप है कि गाड़ी का फिटनेस नहीं है और चालक के पास लाइसेंस भी नहीं है।
मदनी मार्डन कान्वेंट स्कूल के प्रबंधक अफजल अहमद ने बताया कि गाड़ी की फिटनेस ठीक है। चालक भी ट्रेंड है। बरसात होने से फिसलन ज्यादा थी, ऐसे में ब्रेक लगाने पर फिसलकर बोलेरो पोल से टकरा गई। बीईओ आरडी प्रसाद ने बताया कि मामले की जांच कराने के बाद कड़ी कार्रवाई की जाएगी। थानाध्यक्ष दिलीप कुमार शुक्ला ने बताया कि शिकायत मिलने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी। एआरटीओ आरसी भारतीय ने बताया कि स्कूल के वाहन के जरूरी प्रपत्रों की जांच की जाएगी। अगर कोई गड़बड़ी मिली तो कार्रवाई होगी। एक साल पहले भी हुई थी घटना करीब एक साल पहले भी हेमछापर के भलुआन गांव के पास चालक खेत में गाड़ी लेकर पलट गया था। इस हादसे में छह बच्चे घायल हुए थे। लोगों ने कहा कि उस वक्त भी घटना के दौरान जीप खटारा थी और जांच के नाम पर अधिकारियों ने वक्त काट कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया।

Categories
अपराध उत्तर प्रेदेश महाराजगंज

पुलिस को ‘मामा’ कहकर पूछा था ‘हालचाल’, थाने में जमकर पड़ी डांट फटकार

निचलौल कस्बे के मुख्य तिराहे पर बुधवार को सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को एक ऑटो सवार युवक को मामा कहकर हालचाल पूछना मंहगा पड़ गया। नाराज पुलिसकर्मियों ने युवक को पकड़कर थाने लाकर बैठा दिया। उसके कुछ घंटों बाद पुलिस ने युवक के परिजनों को बुलाकर हिदायत देकर छोड़ दियाबताया गया कि कोतवाली ठूठीबारी क्षेत्र के सडकहवा निवासी चंदन चौधरी ऑटो में सवार होकर निचलौल थाना क्षेत्र के एक गांव स्थित रिश्तेदारी में जा रहा था। अभी वह ऑटो में सवार होकर नगर के मुख्य तिराहे पर पहुंचा ही था कि उसकी नजर वहां पर सुरक्षा में तैनात कुछ पुलिसकर्मियों पड़ी, उसके बाद युवक ने पुलिसकर्मियों से कहा की ‘काहो मामा का हालचाल बा’ जिससे नाराज पुलिसकर्मियों ने ऑटो को रोककर युवक को पकड़ लिया।उसके बाद थाने लाकर बैठा दिया। इस संबंध में इंस्पेक्टर बिहागड़ सिंह ने बताया कि युवक के रिश्तेदार को थाने बुलाकर उनके सामने युवक को समझा बुझाकर हिदायत देते हुए छोड़ दिया गया।

Categories
महाराजगंज

बारिश से सड़क हुई कीचड़युक्त, गेहूं को नुकसान

महराजगंज। जिले में सोमवार शाम से मौसम का मिजाज का बदला तो झमाझम बारिश हुई। इससे खेतों में गेहूं की फसल गिर गई। इससे गेहूं की फसल को नुकसान होने की आशंका बढ़ गई है। वहीं बारिश से सड़कें भी कीचड़युक्त हो गईं हैं, जिससे आवागमन में परेशानी हो रही है। बारिश से गेहूं के दानों पर प्रभाव पड़ेगा और किसानों को काफी क्षति होगी। मंगलवार की सुबह भी जमकर बारिश हुई। दिनभर बदली छाई रही।शहर के राजीव नगर मोहल्ले की सड़क पर पानी जमा हो गया, जिससे आने जाने में परेशानी हुई। हाईवे निर्माण होने के कारण फरेंदा रोड के किनारे नाली टूट चुकी है, जिससे जल निकासी की समस्या हो रही है। बारिश होने के कारण मोहल्ले की गलियों में पानी जमा होने से परेशानी बढ़ गई है। इसके अलावा शहर के अन्य मोहल्ले में भी सड़क कीचड़युक्त हो गई। निर्माणाधीन हाईवे पर भी एक किनारे कीचड़ होने से कई लोग फिसल कर गिर गए, जिससे उन्हें हल्की चोट लगी। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश का ज्यादा असर दिखा। पनियरा, अड्डा बाजार, हरखा प्यास, कोल्हुई, चौक बाजार, निचलौल, ठूठीबारी, बरगदवां समेत अन्य क्षेत्रों में गेहूं की फसल झुक गई है। किसानों का कहना है कि बारिश से फसल को नुकसान हुआ है। अब यह बारिश जारी रही तो नुकसान ज्यादा हो सकता है। गेहूं की फसल हवा के झोकों से झुक गई है।मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय ने बताया कि आने वाले दो दिनों में मौसम खराब होने की संभावना है। हवा तेज गति से चल सकती है। जिले में 13 एमएम बारिश हुई है। उप कृषि निदेशक विनोद कुमार ने बताया कि जिन किसानों ने सिंचाई कर लिया था। उनके गेहूं की फसल को ज्यादा नुकसान होगा। तिलहन की फसल को भी बारिश से नुकसान हुआ है।कच्ची ईटें खराब हो चलीमहराजगंज। बारिश से ईंट भट्ठों पर लाखों की संख्या में बनी कच्ची ईंटें खराब हो चली हैं, जिसके चलते भट्ठा संचालकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है और उनके सामने आर्थिक संकट तक खड़ा हो गया है। ईंट भट्ठा मालिक शेषनाथ मोदनवाल ने बताया कि बारिश से काफी नुकसान हुआ है। अगर मौसम इसी तरह खराब होता रहेगा तो व्यवसाय पर काफी असर होगा।
रात भर गुल रही बिजलीमहराजगंज। मौसम खराब होने के कारण सोमवार को पूरी रात बिजली गुल रही। सुबह करीब 9 बजे बिजली आई तो लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं जिला अस्पताल में भी बिजली नहीं रहने से मरीजों को कुछ देर परेशानी हुई। अस्पताल प्रशासन की ओर जनरेटर के माध्यम से बिजली व्यवस्था को बहाल किया गया।हल्की बारिश में तालाब बनी सड़केंपरतावल। क्षेत्र के श्यामदेउरवां बड़हरा मार्ग दर्जनों गांवों को जोड़ने का मुख्य मार्ग है। मंगलवार की सुबह हुई हल्की बारिश में ही तालाब नजर आने लगा। मुख्य सड़क पर पानी भरने के कारण दो पहिया वाहन या पैदल आने जाने वाले राहगीरों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। यही हाल परतावल पनियरा मार्ग का भी है। परतावल से पनियरा की यात्रा करना मतलब दुर्घटना को दावत देना है। बुद्धिरामपुर गांव का मुख्य मार्ग भी बदहाल है। सबसे दयनीय स्थिति बसहिया खुर्द गांव में जाने वाले रास्ते का है। यहां जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। गंदे नाले का पानी मुख्य मार्ग पर ही बहता है। क्षेत्र के देवेंद्र शर्मा, मोनू शर्मा, सुभाष यादव, राम प्रवेश दूबे, मनीष, गोपाल, राम प्रताप, रामदयाल, मुकेश, भजन आदि ने समस्या के समाधान की मांग की।

Categories
महाराजगंज

24 घंटे बाद नगर पालिका के 17 वार्ड में जल आपूर्ति बहाल

महराजगंज। एचएच 730 के निर्माण में बीते दिन नगर सक्सेना चौराहे के करीब फरेंदा रोड पर नगरपालिका के वाटर सप्लाई की मेल लाइन टूट गई। जिससे नगर के 17 वार्ड में जल आपूर्ति ठप हो गई। नगर पालिका के कर्मचारियों की काफी मशक्कत करने पर 24 घंटे बाद जलापूर्ति बहाल हुई। नगर पालिका के जलकल लिपिक अखिलेश पांडेय ने बताया कि नगर पालिका की ओर से 5 कर्मचारियों को लगाकर टूटे पाइप को ठीक कराया गया। उन्होंने बताया कि सड़क के चौड़ीकरण में फरेंदा रोड पर सक्सेना चौराहे के करीब 5 फीट पाइप टूट गई थी, जिसे जल निगम से पाइप लगाकर उसे मंगलवार को दिन में करीब 11 बजे ठीक करा दिया गया है। नगर पालिका अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल ने बताया कि सड़क निर्माण को लेकर जगह जगह पाइप टूट रही है। कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को कहा गया है कि यदि सड़क के निर्माण कार्य में खुदाई करें तो इसकी सूचना नगर पालिका को दी जाए, जिससे पाइप लाइन आदि का बचाव किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी वार्डों में जल आपूर्ति बहाल कर दी गई है।

Categories
महाराजगंज

टेली मेडिसिन सेंटर से मरीजों को नहीं मिल पा रहा लाभ

निचलौल। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों के इलाज के लिए बीते वर्ष अप्रैल माह में ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा टेली मेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया। लेकिन करीब आठ माह बीतने के बावजूद भी इसका लाभ क्षेत्र के मरीजों को नहीं मिल रहा है। कारण अस्पताल में स्थापित सेंटर तक मरीजों को न पहुंचना तथा सेंटर कक्ष में समय से बिजली आपूर्ति न होना है। यही नहीं जिस कक्ष में यह केंद्र चल रहा है, उसके बाहर या अस्पताल परिसर में जिम्मेदारों द्वारा कहीं भी टेली मेडिसिन का एक बोर्ड तक नहीं लगाया गया है।सेंटर में तैनात पैरामेडिक सबिता व क्लस्टर कोआर्डिनेटर तेज प्रताप ने बताया कि इस सेंटर में आने वाले मरीजों का इलाज विशेषज्ञ चिकित्सकों के माध्यम से होता है। मरीजों को द्वारा अपना रोग बताने पर वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सीधे लखनऊ व दिल्ली के विशेषज्ञ चिकित्सक से मरीज के बीच वार्ता कराई जाती है। चिकित्सक मरीज की पूरी बात सुनने के बाद उसके मुताबिक अपना सुझाव व दवा के बारे में आनलाइन जानकारी देते हैं। उस आधार पर मरीज को सेंटर से दवा की पर्ची दी जाती है। मरीजों के लिए इस तरह की सुविधा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत सीएचसी में नि:शुल्क टेली मेडिसिन केंद्र खोला गया है। मंगलवार को अस्पताल आए विमलेश, विवेक, शुभावती देवी, धनंजय वर्मा, वासुदेव, विक्की पटेल का कहना है कि अस्पताल में इतनी अच्छी सुविधा होने के बाद भी लोगों में इसकी जानकारी न होना, कहीं न कहीं जिम्मेदारों की व्यवस्थाओ पर प्रश्नचिह्न खड़ा कर रहा है। केंद्र को बीते वर्ष अप्रैल माह में ही स्थापित किया गया, जो मई महीने से पूरी तरह से कार्य करने लगा, लेकिन व्यवस्थाओं के अभाव में अब तक इस केंद्र पर लगभग तीन सौ ही मरीज पहुंच सके हैं। जबकि इस केंद्र से प्रतिमाह कम से कम दो सौ मरीजों को इलाज की सुविधा दिलाने का लक्ष्य निर्धारित है।अधीक्षक डॉ राजेश द्विवेदी ने बताया कि इस केंद्र के प्रचार-प्रसार को लेकर प्रयास शुरू है। व्यवस्थाओं को ठीक करने का भी प्रयास किया जा रहा है, जिसे बहुत ही जल्द ठीक कर लिया जाएगा।टेली मेडिसिन की सुविधा
निचलौल। इस केंद्र में कैंसर, मूत्र रोग, हृदय रोग, बाल रोग, किडनी रोग, जठतंत्र रोग, उदर रोग, आंत रोग, पाचनतंत्र रोग, तंत्रिका तंत्र रोग, नसों से संबंधित बीमारियों का निदान, अंत: स्त्रावी प्रणाली (ग्रन्थियों से संबंधित बीमारियों का निदान, चर्म रोग एवं यौन रोग,भौतिक एवं पुनर्वास रोग, प्रसूति एवं स्त्री रोग की विशेषज्ञ चिकित्सक द्वारा जांच कर दवा लिखी जाती है।

Categories
महाराजगंज

सीसीटीबी कैमरे की नजर में 13 केंद्रों पर शुरू हुई मदरसा बोर्ड परीक्षा

महराजगंज। जिले में 13 केंद्रों पर मदरसा बोर्ड की परीक्षा सीसीटीवी की निगरानी में शुरू हुई। परीक्षा की सख्ती को देखते हुए पहली पाली में 577 तो दूसरी पाली में 118 छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी प्रवीण कुमार मिश्रा ने बताया कि बोर्ड परीक्षा के जिल जिले में 13 केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा को पारदर्शी बनाने के लिए सभी परीक्षा केंद्र को सीसीटीवी कैमरे से लैस किया गया है। उन्होंने बताया कि पहली पाली में परीक्षा के लिए कुल 2426 परीक्षाथी पंजीकृत थे, जिसमें 1849 परीक्षार्थी ही उपस्थित रहे। 577 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। वहीं द्वितीय पाली के लिए कुल 1710 छात्र पंजीकृत रहे, जिसमें 1592 छात्र उपस्थित रहे। 118 छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी। उन्होंने बताया कि शहर के दो मदरसे में परीक्षा का जायजा लिया गया। सभी स्थानों पर स्थिति सामान्य मिली है। इसके बाद निचलौल में भी एक परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया गया। सभी केंद्र व्यवस्थापकों को शासन की मंशा के अनुसार परीक्षा संपन्न कराने का निर्देश दिया।

Categories
अपराध महाराजगंज

महराजगंज: रेलवे स्टेशन पर किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, दो आरोपी गिरफ्तार

कोठीभार क्षेत्र के एक ग्रामसभा में दुष्कर्म पीड़िता किशोरी के पिता ने पुलिस को नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। आरोप है कि रेलवे स्टेंशन वेंडरों द्वारा नशीला पदार्थ खिलाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया।बताया गया कि बृहस्पतिवार को किशोरी अपने मामा के घर पिपराइच जाने के लिए सिसवा रेलवे स्टेशन पर पहुंची। उसी दौरान रेलवे स्टेशन पर खाने पीने का सामान बेचने वाले एक वेंडर ने बहला फुसला कर नशीला पदार्थ खिला दिया। जब युवती को चक्कर आने लगी तो स्टेशन के पीछे बने अर्धनिर्मित भवन में ले गया जहां उसके और वेंडर साथी मिल कर सामुहिक दुष्कर्म किया।

उसको जब भोर में तीन बजे होश आई तो उसकी हालत खराब थी और उसी अर्धनिर्मित भवन में बेसुध पड़ी रही सुबह कुछ लोगों की युवती पर नज़र पड़ी तो पूछताछ करने पर युवती ने अपना नाम व घर का पता बताया। उसके बाद किसी ने इसकी सूचना घर वालों को दी। सूचना पाकर घर वाले मौके पर पहुंच कर युवती को घर ले गए।युवती के पिता न बताया कि पीड़िता ने पूरी तरह होश में आने के बाद आरोपियो का नाम बताया। प्रभारी निरीक्षक शुभनारायन दुबे का कहना है कि संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। पीड़िता को मेडिकल जांच के लिये भेजा गया है। रेलवे स्टेशन से दो आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। कुछ वेंडरों को उठा कर पूछताछ की जा रही है।

Categories
अपराध महाराजगंज

काम को लेकर सभापद ने की थी शिकायत, चेयरमैन व उनके बेटे ने घर में घुसकर की मारपीट

    1. निचलौल नगर पंचायत के चेयरमैन व उनके दो बेटो सहित छह लोगों पर निचलौल पुलिस ने बलवा सहित अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई में जुट गई है। पुलिस को दिए गए तहरीर में पीड़ित सभासद कमलेश ने बताया कि नगर पंचायत के जिगनहवा वार्ड से अनसूचित सीट पर सभासद हैं। बीते 7 फरवरी को नगर के दस सभासदों के साथ नगर में कराए गए कार्यो में धांधली को लेकर शिकायत किया था।सजिना नगर पंचायत अध्यक्ष अपने दो बेटो व दो अज्ञात व्यक्तियों के साथ गोलबंद होकर बीते 23 फरवरी को उनके आवास पर आकर दुर्व्यवहार करने लगे। जिसका विरोध करने पर उन लोगों ने बेरहमी से पिटाई कर किसी से शिकायत करने पर जान से मरवाने की धमकी देते हुए चले गए। जिससे सहमे पीड़ित सभासद ने अपने साथी सभासदों के साथ थाने पहुंचकर चेयरमैन सहित अन्य लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग थी।इमा मले में इंस्पेक्टर बिहागड़ सिह ने बताया कि आरोपी नगर पंचायत अध्यक्ष विश्वनाथ मद्धेशिया उनके बेटे अनूप मद्धेशिया, अमलेश मद्धेशिया तथा अंबरीश मद्धेशिया, दो अन्य लोगों के विरुद्ध बलवा सहित अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।
Categories
अपराध महाराजगंज

महराजगंज: पोखरे में उतराता मिला युवक का शव, जांच में जुटी पुलिस

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले से बड़ी खबर आ रही है। यहां सदर कोतवाली थाना क्षेत्र के ग्राम सभा पिपरा  कल्याणके पोखरे में एक व्यक्ति का शव मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।मि जानकारी के मुताबिक ग्राम सभा पिपरा कल्याण के पोखरे में रविवार दोपहर में एक व्यक्ति का शव मिला। पोखरे के पास खड़ी एक साइकिल और पोखरे में पड़ी जाल मिली। स्थानीय लोगों का मानना है कि वह पोखरे में मछली निकालने आया होगा। ऐसे में यह हादसा हुआ। मृतक के नाक से खुन निकल रहा था जिससे लोगों ने हत्या कर शव को पोखरे में फेंके जाने की आशंका जाहिर की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।सदर कोतवाली के ग्राम सभा हरिहरपुर निवासी सुंदर निषाद (55) एक मछली व्यवसाई है। शनिवार को दिन में दस बजे घर से जाल लेकर मछली मारने के लिए निकले थे। शाम तक घर वापस नहीं आने पर परिजनों ने सुंदर की खोजबीन की। लेकिन कुछ भी पता नहीं चला। रविवार को दोपहर में  पिपरा कल्याण के जंगलहिया पोखरे के किनारे एक साइकिल एवं पोखरे में पड़ी मछली मारने वाला जाल मिली। ग्रामीणों ने शक होने पर मछली मारने वाली जाल को पोखरी से निकाला तो हरिहरपुर निवासी सुंदर का शव मिला।मा मामलादिग्ध लग रहा है। सुंदर पांच भाई  परशुराम, राजबली एवं दो बहनों में सबसे छोटा था। सुंदर के चार बच्चे संजय, राकेश, किरन, सुशीला हैं। अचानक हुई मौत से पत्नी कुसुमावती सहित परिजनों का रो- रो कर बुरा हाल है। चौकी प्रभारी सिंदुरिया जयशंकर मिश्रा का कहना है  कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों के सटीक जानकारी हो सकेगी। पूरे मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।